Shramik Special Train List, Timings, Route Booking Process For Migrant Workers, Students

भारत सरकार के अधीन भारतीय रेलवे ने भारत में Lockdown के दौरान प्रवासी श्रमिकों के अंतरराज्यीय आंदोलन के लिए छह नई Shramik Special Train (श्रमिक’ स्पेशल ट्रेनें) शुरू की हैं। ये श्रमिक विशेष ट्रेनें प्रवासी श्रमिकों, छात्रों, तीर्थयात्रियों, पर्यटकों और अन्य फंसे हुए लोगों की आवाजाही के लिए संबंधित राज्य सरकारों के अनुरोध पर पॉइंट टू पॉइंट (एक राज्य से दूसरे राज्य) तक चलेंगी। श्रमिक स्पेशल ट्रेन बुकिंग, पंजीकरण, सूची, अनुसूची और अधिक का विवरण जानने के लिए नीचे पढ़ें।

Shramik Special Train (श्रमिक विशेष ट्रेन) पंजीकरण / बुकिंग की सुविधा केवल राज्य सरकार के पास उपलब्ध है, जनता के लिए नहीं। यहां राज्य प्रवासी सेवा के माध्यम से Online पंजीकरण करें।

Shramik Special Trains Details in Hindi

श्रमिक स्पेशल ट्रेन की सेवा शुरू हो चुकी है | यह सहायता केंद्र सरकार द्वारा उन प्रवासी मजदूर, Tourist, Students और तीर्थयात्रियों के लिए है जो दूसरे राज्यों में फंसे है|

  • श्रमिक स्पेशल ट्रेन में यात्रा करने लिए कोई online ticket की आवश्यकता नहीं है | बस आपको नजदीकी Nodal Officer के यहां जाकर registration कराना होगा|
  • नोडल ऑफिसर एक लिस्ट तैयार करेंगे उसके बाद यह लिस्ट रेलवे को भेजी जाएगी |
  • स्टेशन पहुंचने के बाद सभी यात्रियों की स्क्रीनिंग की जाएगी और स्वस्थ पाए जाने पर ही आपको ट्रेन में बैठने कि अनुमति दी जाएगी |
  • लेबर स्पेशल ट्रेन में सफर करने के लिए अपने फेस को कवर करना जरूरी है |
  • श्रमिक स्पेशल ट्रेन में यात्रा करने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग ( Social Distancing ) or कोविड-१९ प्रोटोकॉल का पालन करना होगा |
  • रेलवे ने सभी यात्रियों के लिए खाना (भोजन) और पानी की व्यवस्था कर ली है |
  • जब ट्रेन अपने गंतव्य स्थान पर पहुंच जाएगी तो वहां फिर से स्क्रीनिंग की जाएगी | अगर कोरोनावायरस के लक्षण मिलते है तो आपको क्ववारंटीन में भेजा जाएगा |
  • अगर स्क्रीनिंग में लक्षण नहीं मिलते हैं तो आप अपने घर जा सकते है |

Shramik Special Train fare (श्रमिक स्पेशल ट्रेन की किराया)

भारतीय रेलवे ने घोषणा की प्रवासी श्रमिकों / यात्रियों को विशेष ट्रेनों में यात्रा करने के लिए कोई टिकट किराया नहीं देना होगा। किराया केंद्रीय सरकार (85%) और राज्य सरकार (15%) द्वारा भुगतान किया जाएगा।

बिहार आने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेनों List :

ट्रेनकहां से चलेगीचलने की तारीखपहुंचेगीआएगी
बेंगलुरु दानापुर स्पेशलबेंगलुरु3 Mayदानापुर5 May
बेंगलुरु दानापुर श्रमिक स्पे.बेंगलुरु3 Mayदानापुर5 May
कोटा गया स्पेशलकोटा3 Mayगया4 May
कोटा बरौनी स्पेशलकोटा3 Mayबरौनी4 May

Shramik Special Train List, Route & Timing

  • जयपुर (राजस्थान) से पटना (बिहार) 1200
  • कोटा (राजस्थान) से हटिया (झारखंड) 1000
  • नासिक (महाराष्ट्र) से लखनऊ (यूपी) 850
  • नासिक (महाराष्ट्र) से भोपाल (मध्य प्रदेश) 347
  • लिंगमपल्ली (तेलंगाना) से हटिया (झारखंड) 1140
  • एर्नाकुलम (केरल) से भुवनेश्वर (ओडिशा) 1200
  • तिरुअनंतपुरम (केरल) से हटिया (झारखंड) 1200
  • साबरमती (गुजरात) से आगरा (यूपी) 

कैसे मिलेंगे Shramik Special Train की टिकट:

आपको नोडल अधिकारी या स्थानीय जिला प्रशासन के द्वारा आवेदन करना होगा, इसके बाद वहां के नोडल अधिकारी द्वारा तैयार की गयी सूची रेलवे को सौंपी जाएंगी. कृपया स्टेशन पर केवल वही लोग पहुंचे, जिनका लिस्ट में नाम हो.

राज्य सरकार द्वारा जिन श्रमिकों की लिस्ट इंडियन रेलवे को उपलब्ध कराये जाने पर उस लिस्ट के आधार पर एक स्थान से दूसरे स्थान तक के लिए टिकट जारी किये जायेंगे। जो की केवल श्रमिकों के लिए होंगे, आमजन के लिए नहीं।

सफर में खाना मिलेगा या नहीं

12 घंटे से अधिक सफर वाली ट्रेनों में इंडियन रेलवे की ओर से एक बार सभी श्रमिक यात्रियों को खाना खिलाया जाएगा।

Guidelines for Shramik Special Train

  • The Shramik special trains should have at least 90 per cent occupancy to operate.
  • The local state government authority shall handover tickets of such trains to passengers cleared by them and collect the ticket fare and hand over the total amount to Railways.
  • It also said that the originating state will provide adequate security at the designated station to ensure that only those passengers, who have been cleared by state government to travel and have valid train ticket for journey, should enter station premises.
  • Railways shall print train tickets to the specified destination, as per number of passengers indicated by originating state and hand them over to the local state government authority, it said.
  • The state government shall issue food packets and drinking water at the originating points, it said.
  • It will be mandatory for all passengers to wear face cover. The state authorities shall advise the passengers to use mask/ face covers.
  • The originating state will encourage all passengers to download and use Aarogya Setu App.
  • For trains with long journey beyond 12 hours, one meal will be provided by the railways.
  • On arrival at their destination, the passengers will be received by state government authorities, who would make all arrangements for their screening quarantine, if necessary, and further travel. The receiving state will make adequate security arrangements at the railway station.

श्रमिक स्पेशल ट्रेन का टिकट कैसे बुक करें ?

Online Ticket की कोई सुविधा नहीं है | आपको अपने पास के स्पेशल नोडल ऑफिसर से संपर्क करना होगा |

श्रमिक स्पेशल ट्रेन कहां से कहां तक चलेगी?

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को point to point चलाया जाएगा | ये ट्रेनें बीच में कहीं नहीं रुकेगी |

Advertisement

श्रमिक स्पेशल ट्रेन के टिकट का किराया कितना है ?

भारतीय रेलवे ने घोषणा की प्रवासी श्रमिकों / यात्रियों को विशेष ट्रेनों में यात्रा करने के लिए कोई टिकट किराया नहीं देना होगा।

सफर में खाना मिलेगा या नहीं ?

2 घंटे से अधिक सफर वाली ट्रेनों में इंडियन रेलवे की ओर से एक बार सभी श्रमिक यात्रियों को खाना खिलाया जाएगा।

Leave a Reply